[ad_1]

Young women more cautious about Health : कोरोना महामारी का खतरा अभी भी पूरी दुनिया पर बना हुआ है. इसलिए लोग अपनी सेहत को लेकर ज्यादा अलर्ट रहते हैं. अब वो अपनी डाइट से लेकर एक्सरसाइज तक पर बहुत ध्यान दे रहे हैं. महामारी ने लोगों को कम से कम ये तो समझा ही दिया है कि सेहत है, तो सब कुछ है. क्योंकि इस बुरे वक्त में ये भी देखने को मिला कि सब कुछ होने पर भी लोग अपने लोगों को कोरोना महामारी से बचा नहीं सके. शायद यही वजह है कि बीते कुछ सालों में लोगों में अपनी हेल्थ को लेकर बढ़ी जागरूकता को फिटनेस क्रांति के तौर पर भी देखा जा रहा है. रीबॉक इंडिया (Rebook India) के सर्वे में सामने आया है कि युवा आबादी का लगभग 95 प्रतिशत हिस्सा रोज किसी न किसी तरह की फिजिकल एक्टिविटी करता है. फिर चाहे वो दौड़ना, जिम जाना या घर पर ही एक्सरसाइज करना क्यों ना हो.

देश की 9 सिटी में 18 साल से 35 साल की उम्र के 2200 पुरुषों और महिलाओं पर हुए इस सर्वे के दौरान लगभग 53 प्रतिशत प्रतिभागियों ने बताया कि वे अब तक पांच एक्टिविटीज आजमा चुके हैं. इनमें वॉकिंग को सबसे ज्यादा लोगों ने पसंद किया, इसके बाद जॉगिंग, रनिंग, योग और फिर जिम का नंबर आता है.

सेफ्टी के लिए फिजिकल एक्टिविटी
ऐसा नहीं है कि केवल फिट रहने के लिए ही लोग फिजिकल एक्टिविटी कर रहे हैं. सर्वे के मुताबिक महिलाएं अपनी सुरक्षा के लिए भी फिजिकल एक्टिविटी चुन रही हैं. सर्वे के मुताबिक लगभग 45 प्रतिशत महिलाओं ने एक्सरसाइज की जगह सेल्फ डिफेंस की कोई ना कोई एक्टिविटी चुनी है, जैसे कराटे या जूड़ो, इसके साथ ही वे छुटपुट एक्सरसाइज भी करती रहती हैं, जिससे वे खुद को फिट और खूबसूरत रख सकती हैं.

यह भी पढ़ें- सर्दियों में नाक हो जाती है ड्राई तो ट्राई करें ये 4 घरेलू नुस्खे, नहीं पड़ेगी नोज़ल ड्रॉप की जरूरत

दूसरे तरीके ज्यादा आजमा रहीं है महिलाएं
इस सर्वे में ये बात भी देखने को मिली है कि ज्यादातर महिलाएं सेहत के लिए जिम जाने के बजाय दूसरे तरीके ज्यादा आजमा रही हैं. सर्वे में करीब 40 प्रतिशत महिलाओं ने माना कि वो ताकत वाली एक्सरसाइज यानी स्ट्रेंथ वर्कआउट (Strength Workout) करती हैं, जैसे एरोबिक्स (Aerobics), किकबॉक्सिंग (Kickboxing) और जुंबा (Zumba).

यह भी पढ़ें- प्रेग्‍नेंसी के दौरान फिट रहने के लिए एक्‍सरसाइज के अलावा इन 5 बातों का भी रखें ख्‍याल

मैराथन में भी महिलाओं ने भाग लिया
जुंबा की लोकप्रियता काफी बढ़ रही है. साल 2017 से लेकर 2019 के बीच इसे आजमाने वाली महिलाओं की संख्या तेजी से बढ़ी है. इससे जाहिर होता है कि महिलाएं पुरुषों का गढ़ मानी जाती रही दूसरी एक्टिविटीज का भी हिस्सा बन रही हैं. सर्वे में शामिल 54 प्रतिशत महिलाओं ने माना कि उन्होंने मैराथन जैसी स्पर्धा में भी भाग लिया था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.