[ad_1]

Calories in Tea : चाय कुछ लोगों की जिंदगी अहम हिस्सा होती है, वो दिन में कई बार चाय पी लेते हैं. वहीं चाय (Tea) के चाहने वाले कुछ ऐसे भी लोग हैं जो दिन में केवल दो बार चाय पीते हैं, लेकिन इन दोनों टाइम उन्हें चाय चाहिए ही…मतलब वो इसे स्किप (Skip) नहीं कर सकते हैं. अगर घर में हैं तो बिलकुल नहीं और बाहर हैं तो किसी ना किसी तरह चाय की तलब उन्हें चाय की दुकान की तरफ खींच लाएगी. वैसे तो चाय पीने, नहीं पीने के अपने-अपने तर्क हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि चाय पीने के कई फायदे हैं. हार्वर्ड हेल्थ पब्लिशिंग (HHP) के अनुसार सीमित मात्रा में नियमित रूप से चाय पीने से हार्ट डिजीज (Heart Disease), कैंसर (Cancer) और डायबिटीज (Diabetes) जैसी बीमारियों का खतरा कम होता है. वैसे तो चाय में ज्यादातर मात्रा में पानी ही होती है. लेकिन कुछ मात्रा में कैफीन (Caffeine) भी पाया जाता है. मायो क्लिनिक के अनुसार जब तक 500 मिग्रा या ज्यादा कैफीन का सेवन ना किया जाए तो यह ड्यूरेटिक (Diuretic) (यानी बार बार यूरीन लाने वाला) की तरह काम नहीं करता. दूध की चाय में कैलोरी (Calorie) बहुत कम मात्रा में होती है.

न्यूट्रीशनिस्ट दिव्या गांधी (Nutritionist Divya Gandhi) बताती हैं कि दूध की चाय को छोड़कर अधिकांश चाय में कैलोरी बहुत कम मात्रा में होती है.

दूध वाली चाय
न्यूट्रीशनिस्ट दिव्या गांधी के अनुसार आप रोजाना 2 से 3 कप मिल्क टी यानी दूध वाली चाय पी सकते हैं. लेकिन अगर आप अपने शरीर में कैलोरी को कम करना चाहते हैं, यानी वजन घटाना चाहते हैं, तो इसका सेवन ना ही करें तो बेहतर होगा. क्योंकि मिल्क टी में 102 कैलोरी होती है, इसमें कैफीन की मात्रा 32-37 मिग्रा होती है.

यह भी पढ़ें- सर्दी-खांसी से लेकर ऑर्थराइटिस के दर्द को भी ठीक करता है पारिजात-हरसिंगार

ग्रीन टी और ब्लैक टी
वहीं ग्रीन टी की बात करें तो इसमें कैलोरी 2 होती है और कैफीन की मात्रा 28 मिग्रा होती है. आप ग्रीन टी दिन में 4 से 5 बार ले सकते हैं. ब्लैक टी में भी कैलोरी ग्रीन टी जितनी ही होती है, मतलब 2. लेकिन इसमें कैफीन की मात्रा सबसे अधिक होती है, 47 मिग्रा. आप इसे दिन में 3 से 4 बार पी सकते हैं.

कैफीन रहित चाय है बेस्ट
अब ब्लैक टी के शौकीन लोगों के लिए मार्केट में कैफीन रहित (Caffeine less black tea) ब्लैक टी भी मौजूद है. कैफीन रहित ब्लैक टी में कैलोरी की मात्रा 2 होती है, वहीं इसमें कैफीन भी मात्र 2 मिग्रा होता है. इसे दिन में 5 से 6 कप लिया जा सकता है.

यह भी पढ़ें- जीभ में जलन हो रही हो, तो इन घरेलू तरीकों से करें इसका इलाज

इम्यूनिटी बूस्टर है ग्रीन टी
न्यूट्रीशनिस्ट दिव्या गांधी के अनुसार, ग्रीन टी को इम्यूनिटी बूस्टर कहा जाता है. इसमें फ्लेवोनॉयड्स होते हैं, जो बैड कॉलेस्ट्रॉल और ब्लड क्लॉटिंग को कम करते हैं. इससे हार्ट हेल्दी होता और बॉडी में अलर्टनेस भी बढ़ती है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.