[ad_1]

You Can Use Essential Oil For These Health Benefits : भीनी भीनी खुशबू वाले एसेंशियल ऑयल (Essential Oil) का इस्तेमाल हम कई चीजों में करते हैं. फिर वह चाहे स्‍पा थेरेपी हो या स्किन और बालों का केयर. हम इनका प्रयोग अरोमा थेरेपीज के लिए भी करते हैं. इसके गुणों (Benefits) को देखते हुए इन दिनों इसका चलन काफी तेजी से बढा है. एसेंशियल ऑयल इन दिनों बाजार में कई वेरायटी के उपलब्‍ध हैं. अपने पसंद के हिसाब से इन्‍हें खरीद कर प्रयोग में ला सकते हैं. तो आइए आज हम आपको बताते हैं कि अलग अलग खुशबुओं वाले इन एसेंशियल ऑयल के और कौन से स्‍वास्‍थ्‍य (Health) लाभ हैं.

1.नीलगिरी एसेंशियल ऑयल का प्रयोग

अगर आप बंद नाक से परेशान हैं तो आप रुमाल में या तकिए पर नीलगिरी ऑयल की कुछ बूंदों को टपकाएं और गहरी सांस लें. इसके प्रयोग से सर्दी और फ्लू में राहत मिलती है. ये बंद नाम से छुटकारा पाने के अलावा एक बेहतरीन दर्द निवारक की तरह भी काम करता है. यह मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द को कम करने में भी फायदेमंद है.

2.लेमन एसेंशियल ऑयल का प्रयोग 

लेमन एसेंशियल ऑयल एक एंटी बैक्टीरियल होने के साथ-साथ एक एंटिफंगल गुण से भरपूर भी है. ये मुंहासे के कारण होने वाले हाइपरपिग्मेंटेशन को कम करने के लिए प्रयोग में लाया जाता है. इसका प्रयोग कई फेसवॉश और कॉस्‍मेटिक प्रोडक्‍ट में भी किया जाता है.

3.लैवेंडर एसेंशियल ऑयल का प्रयोग

अरोमा थेरेपी में लैवेंडर एसेंशियल ऑयल का खूब प्रयोग किया जाता है. इस तेल के प्रयोग से आप अपने दिमाग और मन को शांत कर सकते हैं. इसकी खुशबू आपको अंदर से फ्रेश और एनर्जेटिक बनाती है. इसके अलावा इस एसेंशियल ऑयल स्किन ब्रेकआउट को रोकने और सूजन को कम करने के काम भी आता है.

इसे भी पढ़ें : बरसात में अपने स्किन केयर रूटीन में शामिल करें मुल्तानी मिट्टी फेस पैक, ऐसे करें इस्तेमाल

टी ट्री ऑयल का प्रयोग

टी ट्री ऑयल को घर पर अपना सैनिटाइजर बनाने के लिए प्रयोग में लाया जा सकता है. ये त्वचा पर मुंहासों की रोकथाम और रेडनेस को कम करने के लिए भी बहुत उपयोगी है. इसे एंटीसेप्टिक के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

पेपरमिंट एसेंशियल ऑयल का प्रयोग

अगर आपको सिरदर्द, जोड़ों के दर्द, मांसपेशियों में दर्द आदि को दूर करने के लिए एसेंशियल ऑयल का प्रयोग करना हो तो आप पेपरमिंट ऑयल का प्रयोग कर सकते हैं.  इसकी महक से मक्खियों और अन्य कीड़ों को भी दूर रखा जा सकता है. यह बालों और त्‍वचा के स्कैल्प और स्वास्थ्य को भी बनाए रखता है.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Health benefit, Lifestyle, Tips and Tricks



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.