[ad_1]

Kartik Month Special Must Do This Work:  कार्तिक महीने को पुराणों में सर्वश्रेष्‍ठ मास (Best Month) कहा जाता है. इस माह जिसमें राधा-दामोदर पूजन, शालिग्राम पूजन, विष्णु पूजा और तुलसी पूजा (Tulsi puja) का विशेष महत्‍व है. मान्‍यता है कि इस महीने सूर्य और चंद्र किरणों का पृथ्वी पर पड़ने वाला प्रभाव मनुष्य के मन मस्तिष्क को स्वस्थ रखता है. इस महीने में इंसान अपने सभी पापों का नाश कर सभी संकटों को दूर कर सकता है. यही नहीं, कुछ कर्मों को कर धन, सुख, समृद्धि, शांति और निरोग जीवन को भी प्राप्‍त किया जा सकता है. तो आइए जानते हैं कि इस महीने कौन से प्रमुख कार्यों को जरूर कना चाहिए

कार्तिक मास में जरूर करें ये काम

1.विष्णु, लक्ष्मी गंगा पूजा करें

इस माह में पूजा पाठ का विशेष महत्‍व है. इस महीने तीर्थ, गंगा पूजा, विष्णु पूजा, लक्ष्मी पूजा और यज्ञ एवं हवन का भी बहुत महत्व है. ऐसे में चंद्रोदय पर शिवा, संभूति, संतति, प्रीति, अनुसूया और क्षमा इन छह कृतिकाओं का अवश्य पूजन करें.

2.तुलसी पूजा

इस माह अगर आप तुलसी की पूजा करते हैं तो इसका बहुत ही ज्यादा महत्व होता है. कार्तिक माह में तुलसी पूजा का महत्व कई गुना ज्‍यादा माना जाता है. रोज सुबह और शाम तुलसी को दीप धूप दिखाएं.

ये भी पढ़ेंDiwali 2021: इस दिन मनाई जाएगी दिवाली, जानें मां लक्ष्मी और भगवान गणेश का पूजन मुहूर्त और पूजा विधि

3.व्रत रखें

कार्तिक महीने की प्रत्येक पूर्णिमा को रात्रि में व्रत और जागरण करने से सभी मनोरथ सिद्ध होता है. इस दिन उपवास करके भगवान का स्मरण, चिंतन करने से अग्निष्टोम यज्ञ के समान फल प्राप्त होता है तथा सूर्यलोक की प्राप्ति होती है.

4.जमीन पर सोएं

इस माह में जमीन पर सोने का अपना महत्‍व है. ऐसा करने से मन में सात्विकता का भाव आता है और रोग और विकारों को दूर रखा जा सकता है.

5.दलहन से दूरी

कार्तिक महीने में उड़द, मूंग, मसूर, चना, मटर, राईं आदि नहीं खाना चाहिए. इसके अलावा लहसुन, प्याज और मांसाहर का सेवन भी नहीं करना चाहिए.

ये भी पढ़ें: Diwali 2021: दिवाली पर कम लागत में इन तरीकों से सजाएं अपना घर

6.तेल मालिश वर्जित

इस माह में नरक चतुर्दशी यानी कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी को छोड़कर अन्य दिनों में तेल लगाना वर्जित माना गया है.

7.ब्रम्‍हचर्य का पालन

कार्तिक मास में ब्रह्मचर्य का पालन जरूरी माना गया है. इसका पालन न किया जाए तो अशुभ फल मिलता है.

8.इंद्रिय संयम

इस महीने अगर इंद्रिय संयम करें तो इसका विशेष महत्‍व है. ऐसे में इस महीने कम बोले, किसी की निंदा या विवाद न करें, मन पर संयम रखें, खाने के प्रति आसक्ति न रखें, न अधिक सोएं और न जागें. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.