[ad_1]

Tips To Get Correct Size Of Bra: हर किसी की चाहत होती है कि वो कॉन्फिडेंट दिखें और उनकी पर्सनैलिटी अच्छी लगे. इसके लिए सिर्फ सही तरीके से उठना-बैठना या बोलना ही जरूरी नहीं होता. आपका लुक और पहनावा भी बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. अगर महिलाओं की बात की जाए तो सिर्फ उनके आउटफिट ही नहीं, बल्कि सही अंडर गारमेंट्स, विशेष तौर पर सही ब्रा (Bra) का चुनाव भी उनके व्यक्तित्व को बेहतर बनाने में मददगार है. सही साइज की ब्रा (Correct size of bra) पहनना उतना ही जरूरी है जितना दिनचर्या के बाकी जरूरी काम. अगर आप सही साइज की ब्रा नहीं पहनती हैं तो आपके लुक के साथ-साथ आपके स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पड़ सकता है.

बहुत सारी महिलाएं गलत साइज की ब्रा (Bra size) पहनती हैं क्योंकि उन्हें पता ही नहीं होता कि उनके लिए कौनसा साइज सही रहेगा. आइए, सबसे पहले जानते हैं कि सही ब्रा पहनना क्यों जरूरी है और इसके क्या फायदे हैं.

सही साइज की ब्रा पहनने के फायदे (Benefits of wearing correct bra size)

आरमदायक महसूस होगा
अगर आप सही साइज की ब्रा पहनें तो इससे आपको काफी आरमदायक महसूस होगा. आप असहज महसूस नहीं करेंगी और अपने काम को बेहतर तरीके से कर सकेंगी.

आत्मविश्वास बढ़ेगा
महिलाओं के ऊपर हुई कई स्टडीज में ये बताया गया है कि जो महिलाएं ब्रा पहनती हैं वो खुद को ज्यादा आत्मविश्वास से भरा महसूस करती हैं. आपको बता दें कि उनका मानना है कि ब्रा पहनने के बाद उन्हें झिझक महसूस नहीं होती. हांलाकि, यह सबकी अपनी पसंद और निजी राय है.

स्तनों को मिलता है सपोर्ट
ब्रा पहनने से स्तनों को सपोर्ट मिलता है. जिसके कारण ब्रेस्ट की त्वचा ढीली नहीं पड़ती.

बॉडी पोस्चर रहता है ठीक
सही ब्रा पहनने से बॉडी पोस्चर सही रहता है. जिसके कारण खराब पोस्चर के कारण होने वाली स्वास्थ्य संबंधित दिक्कतों से बचा जा सकता है.
क्या आप सही ब्रा साइज पहन रही हैं? पता करें (How to know correct size of bra)

– ब्रा बैंड यानी ब्रा की हुक लगाने वाली बेल्ट या पट्टी पूरी तरह सही लगती और आपकी पीठ के बीच में आती हो.
– हाथ उठाते समय बैंड ऊपर की तरफ न चढ़ता हो.
– ब्रा-स्ट्रैप और कंधों के बीच एक उंगली की जगह हो.
– ब्रा ब्रेस्ट को पूरी तरह कवर करती हो.

ब्रा साइज नापने का तरीका  (How to Measure Bra Size)

जानकारी के मुताबिक 28, 30, 32, 34 ये ब्रेस्ट के नीचे के एरिया यानी पसलियों का साइज होता है. इसे बैंड साइज (Band size) कहा जाता है. A,B,C,D ब्रेस्ट साइज (Breast size) होता है, जिसे कप साइज (Cup size) भी कहते हैं. बैंड साइज मापने के लिए इंची टेप से ब्रेस्ट का माप लें और जो नंबर आए, उसमें 1 और जोड़ें. अगर ऑड नंबर आता है तो उसका अगला इवन नंबर आपका बैंड साइज होगा. अगर आपका नंबर 31 आता है तो आपका बैंड साइज 32 होगा.

टेप से ब्रेस्ट के उभरे हुए भाग को नापें. कप साइज जानने के लिए ब्रेस्ट-साइज और बैंड-साइज को अलग करें. यानी अगर ब्रेस्ट साइज 31 है और बैंड साइज़ 30 है तो दोनों का डिफरेंस 1 इंच है जिसका मतलब आपके कप का साइज A है. ठीक इसी तरह अगर दोनों के बीच अंतर 2 इंच का है तो कप साइज B है, 3 इंच है तो C है और अगर ये अंतर 4 इंच है तो कप साइज D होगा. हर 6 महीने में साइज चेक जरूर करें.

ब्रा शॉपिग टिप्स (Bra Shopping/Purchasing Tips)
– ब्रा बैंड (Bra band) के आखिरी हुक (Hook) को लगा कर चेक करें कि ब्रा ठीक है या नहीं ताकि आप ब्रा ढीली हो जाने पर भी उसे पहन सकें.
– ब्रा अच्छी कंपनी/ब्रैंड की हो.
– ब्रा की क्वालिटी (Bra Quality) का ध्यान जरूर रखें.
– ब्रा खरीदने से पहले ट्रायल रूम में ट्राई जरूर करें.
– ध्यान रहे की ब्रा के कप से ब्रेस्ट ज्यादा बाहर न निकलें.
– ब्रा ज्यादा टाइट न हो और आपको सांस लेने में तकलीफ न हो.
– सिंथेटिक फ्रैब्रिक वाली ब्रा पहनने से बचें.
– ब्रा की स्ट्रैप (Bra strap) आपकी त्वचा को नुकसान न पहुंचाए.
– ब्रा बैंड और स्टैप्स के नीचे 2 उंगलियां आसानी से अंदर जा सकें.
– अगर आप ब्रा ट्राई करें तो आगे की ओर झुक कर जरूर देखें. अगर स्तन बाहर की ओर निकल रहें हैं तो ब्रा सही नहीं है.
– सही ब्रा साइज या क्वालिटी जानने के लिए आप किसी एक्सपर्ट या प्रोफेशनल की मदद भी ले सकती हैं.

Tags: Lifestyle, Women



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.