[ad_1]

Disadvantages of chocolate for young children: चॉकलेट खाने के शौकीन लोगों की वैसे कोई उम्र नहीं होती है, लेकिन इसे खाने वालों में सबसे ज्यादा बच्चे ही होते हैं. अक्सर ये देखने में आया है कि माता-पिता बच्चों को जरा रूठने या रोने पर उन्हें चॉकलेट (Chocolate) का लालच देकर मना लेते हैं. और बच्चे मान भी जाते हैं. माता-पिता द्वारा दिया गया ये लालच आगे चलकर बच्चों की आदत में शुमार हो जाता है. बच्चे अक्सर चॉकलेट की मांग करने लगते हैं. वो पौष्टिक खाने से दूर होते जाते हैं और चॉकलेट और उससे बने फूड उन्हें अच्छे लगते हैं. जैसे पेस्‍ट्री, चॉकलेट ब‍िस्‍क‍िट, कुकीज़, केक, चॉकलेट शेक आद‍ि. लेकिन क्या आप जानते हैं कि छोटी उम्र के बच्चों को ज्यादा चॉकलेट खिलाना कितना नुकसानदायक हो सकता है? ओनली माई हेल्थ में छपी न्यूज रिपोर्ट में लखनऊ के वेलनेस डाइट क्‍लीन‍िक की डायटीश‍ियन डॉ स्‍म‍िता सिंह ने इस बारे में विस्तार से बताया है.

इस न्यूज रिपोर्ट के अनुसार, जिन बच्‍चों को पेट ठीक तरह से नहीं भरता उन्‍हें चॉकलेट खाकर संतुष्‍ट‍ि म‍िलती है, क्‍योंक‍ि चॉकलेट एनर्जी का मेन सोर्स है. इसे खाने से शरीर में तुरंत एनर्जी आ जाती है. वहीं कुछ बच्‍चे चॉकलेट इसल‍िए भी पसंद करते हैं क्‍योंक‍ि उन्‍हें इसका मीठा स्‍वाद अच्‍छा लगता है, वहीं कुछ को चॉकलेट खाने की लत लग जाती है. ज‍िसके कारण उन्‍हें हर समय चॉकलेट खाने का मन करता है. जानिए चॉकलेट से होने वाले 5 नुकसान (Disadvantages of chocolate) के बारे में.

दांत खराब होने का खतरा
कम उम्र में ज्‍यादा चॉकलेट खाने से सबसे पहले दांत में कैव‍िटी (cavity) हो सकती है, दांत में कैव‍िटी होने का सबसे बड़ा कारण है लापरवाही. कई माता-प‍िता बच्‍चों को ख‍िलाने के ल‍िए कुल्‍ला नहीं करवाते या ओरल हाइजीन (oral hygiene) का ध्‍यान नहीं रखते हैं ज‍िसके कारण दांत में ज्‍यादा मीठा खाने से कैव‍िटी होने का खतरा रहता है.

नींद में दिक्कत
अगर चॉकलेट में कैफीन (caffeine) की मात्रा ज्‍यादा है तो छोटे बच्चों को नींद की समस्‍या (Sleep issues) हो सकती है, बच्चा रात के दौरान परेशान हो सकते हैं. इसलिए रात के समय छोटे बच्‍चों को चॉकलेट देने से बचना चाहिए.

यह भी पढ़ें-
दवाओं में अश्‍वगंधा की पत्तियां लेने वाले हो जाएं सावधान, आयुष ने दी इस्‍तेमाल न करने की सलाह

हो सकती है एस‍िड‍िटी
अगर श‍िशु ज्‍यादा चॉकलेट खा लेंगे तो उन्‍हें एस‍िड‍िटी (Acidity) या पेट में दर्द की समस्‍या हो सकती है, चॉकलेट पेट के ल‍िए भारी होती है ऐसे में उसे खाने के बाद श‍िशुओं में एस‍िड‍िटी या पेट में दर्द की समस्‍या उठ सकती है. ऐसी स्‍थ‍ित‍ि में बच्‍चे को ज्‍यादा से ज्‍यादा पानी प‍िलाएं.

मोटापे की श‍िकायत
ज्‍यादा चॉकलेट खाना सेहत के ल‍िए हान‍िकारक होता है, अगर आप बच्चे को चॉकलेट ख‍िला रहे हैं तो उससे बच्‍चे का वजन बढ़ सकता है और वो मोटापे (Obesity) का श‍िकार हो जाएगा. मोटापे के अलावा श‍िशु को सीने में जलन, स‍िर में दर्द की समस्‍या, जी म‍िचलाने जैसी समस्‍या हो सकती है.

यह भी पढ़ें-
रोज एक कप ब्लैक कॉफी सेहत के लिए है बेहद फायदेमंद, जानें पीने का सही तरीका

बढ़ सकता है शुगर लेवल 
चॉकलेट ख‍िलाने से बच्‍चे के शरीर में ब्‍लड ग्‍लूकोज़ (Blood Glucose) बढ़ सकता है. इससे बच्चों में कम उम्र में मोटापे (Obesity) के लक्षण नजर आने लगते हैं जिसके कारण आगे चलकर थॉयराइड (thyroid) और डायब‍िटीज (diabetes) के लक्षण भी बढ़ सकते हैं.

Tags: Child Care, Lifestyle, Parenting, Parenting tips



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.