[ad_1]

गर्दिश में सितारे/सुरेंद्र अग्रवाल: मनीषा कोइराला बॉलीवुड की ऐसी हीरोइन हैं, जिन्होंने मणिरत्नम जैसे लेजेंड डायरेक्टर के साथ एक बार नहीं, बल्कि ‘Bombay’ और ‘Dil Se’ के रूप में दो बार काम किया. बहुत कम लोग ये जानते हैं कि मनीषा कोइराला नेपाल के राजघराने से ताल्लुक रखती हैं और उनका पूरा परिवार नेपाल की राजनीति में भी काफी एक्टिव रहा है. फिल्मों में 20 साल काम करने के बाद Manisha Koirala ने 2010 में नेपाली बिजनेसमैन से शादी कर ली. मगर सिर्फ दो साल बाद 2012 में वे दोनों अलग हो गए. मगर इससे बड़ा झटका उनके लिए इसी साल के अंत में आना था. जब उनमें ओवेरियन कैंसर की पुष्टि हुई.

मनीषा कोइराला ने हाल ही में सोशल मीडिया पर ओवेरियन कैंसर के ट्रीटमेंट के दौरान की फोटो शेयर करते हुए अपने सफर के बारे में बताया. बता दें कि, एक्ट्रेस मनीषा कोइराला ने ओवेरियन कैंसर का इलाज न्यूयॉर्क में करवाया था और अब वह पूरी तरह से स्वस्थ हैं.

‘गर्दिश में सितारे’ सीरीज के सभी आर्टिकल पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Ovarian Cancer: क्या है ओवेरियन कैंसर?

ओवरी एक फीमेल रिप्रोडक्टिव पार्ट होती है, जो गर्भ के दोनों ओर स्थित होती है. ओवरी ही एग्स का प्रोडक्शन करती है. जब ओवरी यानी अंडाशय के किसी भी भाग में कैंसर विकसित हो जाता है, तो उसे ओवेरियन कैंसर कहा जाता है. इस कैंसर में ओवरी के किसी हिस्से की सेल्स खुद को असामान्य तरीके से बढ़ाने लगती हैं. NIH के मुताबिक, ओवेरियन कैंसर आम नहीं होता है, लेकिन किसी भी रिप्रोडक्टिव कैंसर के मुकाबले महिलाओं में सबसे ज्यादा मृत्यु इसी कैंसर के कारण होती है.

ओवेरियन कैंसर के लक्षण – Symptoms of ovarian cancer

NIH के मुताबिक, ओवेरियन कैंसर के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं.

  • पेल्विस में भारीपन महसूस होना
  • पेट के निचले हिस्से में दर्द
  • वजायना से ब्लीडिंग होना
  • अचानक वजन बढ़ना या घटना
  • अनियमित पीरियड्स
  • बिना वजह कमर दर्द होना, जो कि गंभीर होता जाता है
  • थकान
  • गैस, उल्टी, जी मिचलाना या भूख ना लगना, आदि

ये भी पढ़ें: गर्दिश में सितारे: 40 साल पुरानी इस गलती पर आजतक अफसोस करते हैं पूर्व केंद्रीय मंत्री, इसके कारण हो गया था Oral Cancer

Ovarian Cancer treatment: ओवेरियन कैंसर का इलाज

फिजिकल एग्जाम, पेल्विक एग्जाम, लैब टेस्ट, अल्ट्रासाउंड आदि के द्वारा ओवेरियन कैंसर की जांच की जाती है. यह कैंसर किस कारण होता है, इसके बारे में एक्सपर्ट्स के पास फिलहाल प्रमाणिक जानकारी नहीं है. हालांकि, ओवेरियन कैंसर का इलाज इसके प्रकार पर निर्भर करता है. हेल्थलाइन के मुताबिक, जिसमें निम्नलिखित तरीके शामिल होते हैं.

1. कीमोथेरेपी

ओवेरियन कैंसर की सर्जरी के साथ कीमोथेरेपी की जाती है. जिसमें पेट के द्वारा या इंट्रावेनसली दवाएं दी जाती हैं. इसे intraperitoneal treatment भी कहा जाता है.

2. सर्जरी

ओवेरियन कैंसर की पुष्टि और स्टेज के बारे में पता लगाने के लिए सर्जरी की जाती है. इस सर्जरी के दौरान डॉक्टर कैंसरीकृत टिश्यू को हटाने की कोशिश करता है. जिन महिलाओं की भविष्य में गर्भवती होने की इच्छा होती है, उनमें ओवरी सर्जरी का तरीका विभिन्न हो सकता है.

3. एडवांस ओवेरियन कैंसर सर्जरी

जो महिलाएं भविष्य में मां नहीं बनना चाहती हैं या फिर उनमें कैंसर स्टेज 2, 3 या 4 पर होता है, तो उनमें एडवांस ओवेरियन कैंसर सर्जरी की जाती है. जिसमें कैंसर से ग्रसित हिस्से को पूरी तरह हटा दिया जाता है.

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है.



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.