[ad_1]

Sabudana Making Process:  उपवास के दौरान जिन डिशेस का फलाहार के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है उनमें से ज्यादातर साबूदाना (Sabudana) से बनने वाली होती हैं. व्रत के दौरान लगभग हर घर में साबूदाना खिचड़ी या उससे जुड़ी डिशेस बनाई जाती हैं. इसके बिना उपवास कुछ अधूरा सा लगता है. हम सभी साबूदाना को बड़े चाव से खाते हैं लेकिन क्या कभी ये सोचा है कि अगर साबूदाना अनाज नहीं है तो फिर आखिर साबूदाना बनता कैसे है?

गौरतलब है कि साबूदाना पसंद करने वाले लोग आम दिनों में भी इसे बनाकर खाने में गुरेज नहीं करते हैं. अब तो साबूदाना से जुड़ी डिशेस स्ट्रीट फूड के तौर पर भी फेमस होने लगी हैं. ऐसे में ये जानना काफी दिलचस्प होगा कि साबूदाना बनाने की प्रक्रिया कैसी होती है और इसके क्या फायदे हैं.

पेड़ के गूदे से बनता है साबूदाना
साबूदाना कोई अनाज नहीं है बल्कि यह सागो पाम नाम के एक पेड़ के तने से निकलने वाले गूदे से बनाया जाता है. सागो का पेड़ ताड़ के पेड़ की तरह ही होता है. यह मूल तौर पर पूर्वी अफ्रीका का पौधा है. जब इस पेड़ का तना मोटा हो जाता है तो उसके बीच के हिस्से को चीर दिया जाता है और उसमें से गूदा निकालकर पीसकर पाउडर बनाया जाता है. इसके बाद इस पाउडर को छाना जाता है और गर्म किया जाता है जिससे पाउडर के दाने बन सकें. बता दें कि साबूदाना बनाने के लिए कच्चे माल की बात की जाए तो ये सिर्फ एक है और वह है ‘टैपिओका रुट’ जिसे अंतर्राष्ट्रीय लेवल पर ‘कसावा’ के तौर पर भी पहचाना जाता है. कसावा स्टॉर्च टैपिओका कहलाता है.

इसे भी पढ़ें: Kitchen Tips: चावल में कीड़े लगने से हैं परेशान? स्टोर करने के लिए इन टिप्स को करें फॉलो
इस तरह बनता है साबूदाना
हमारे देश में साबूदाना टैपिओका स्टार्च की मदद से बनाया जाता है. टैपिओका स्टार्च बनाने के लिए कसावा का इस्तेमाल होता है जो कि बहुत हद तक शकरकंद जैसा होता है. पहले गूदे को बड़े-बड़े बर्तनों में निकाला जाता है और उसे लगभग दिनों तक रखा जाता है. इस दौरान रोजाना इसमें पानी डाला जाता है. इसके बाद बनने वाले गूदे को मशीनों में डाल दिया जाता है और इस तरह साबूदाना तैयार हो जाता है, इसे सुखाकर ग्लूकोज और स्टार्च से बने पाउडर की पॉलिश की जाती है. इस तरह सफेद मोतीदाने जैसा दिखने वाला साबूदाना तैयार होता है.

इसे भी पढ़ें: प्रोटीन की कमी को दूर करने के लिए इन फूड्स को करें डाइट में शामिल

साबूदाना में हैं यह गुण
साबूदाना में काफी मात्रा में कार्बोहाइड्रे़ड पाया जाता है. इसमें कुछ मात्रा में विटामिन सी और कैल्शियम भी मौजूद होता है. इसी वजह से व्रत में इसका इस्तेमाल काफी बढ़ गया है. यह पौष्टिक होने के साथ खाने में भी स्वादिष्ट लगता है.

Tags: Food, Lifestyle



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.