[ad_1]

warning sign of kidney problem: किडनी के बिना जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती है. अगर हमारी किडनी पूरी तरह से काम करना बंद कर दे तो हम एक मिनट भी जिंदा नहीं रह सकते हैं. यही कारण है शरीर में जितने भी जीवनदायी अंग हैं, उनकी संख्या दो होती हैं. इसलिए प्रकृति ने हमें दो किडनी भी दी हैं. अगर एक किडनी खराब हो जाए तो दूसरी किडनी पूरा काम संभाल लेती है. शरीर खाना खाने के बाद कई तरह के टॉक्सिन बनते हैं.

इन टॉक्सिन को शरीर से बाहर निकालने का काम किडनी ही करती है. यह ब्लड से अपशिष्ट पदार्थ और अतिरिक्त तरल पदार्थ को छानकर पेशाब के रास्ते बहार निकाल देती है. आज जिस तरह से हमारा लाइफस्टाइल बदल रहा है, उसमें गलत खान-पान की वजह से हमारी किडनी पर अतिरिक्त दबाव पड़ती है जिससे हमारी किडनी कमजोर होती जा रही है. इसलिए किडनी का ख्याल रखना हमारे लिए अत्यंत जरूरी है. इसके लिए हमें यह समझना जरूरी है कि हमारी किडनी पर कब मुसीबत आ पड़ी है. तो आइए जानते हैं ऐसे पांच संकेत जिनके आधार पर किडनी में प्रॉब्लम आती है.

किडनी खराब होने के संकेत

इसे भी पढ़ेंः Vitamin D की कमी से दोगुना हो जाता है दिल की बीमारियों का खतरा- स्टडी

हमेशा थकान
वेबएमडी की खबर के मुताबिक अगर आप हमेशा थकान से परेशान रहते हैं तो यह किडनी के खराब होने का संकेत हो सकता है. अगर किडनी टॉक्सिन को बाहर निकलने में समस्याओं का सामना कर रही है तो समझिए कि यह टॉक्सिन आपके सेल्स में जमा होने लगे हैं जिसके कारण थकान बहुत ज्यादा होने लगती है. खून में टॉक्सिन की मात्रा बढ़ने से मसल्स और ब्रेन तक ऑक्सीजन सही से नहीं पहुंचती है जिसके कारण हमेशा थकान की शिकायत रह सकती है.

इसे भी पढ़ेंः बैक्टीरिया का खात्मा करेगा वायरस, संक्रमण से लड़ने के लिए मिलेगी नई टूलकिट – स्टडी

नींद कम आना
स्टडी में यह बात सामने आई है कि किडनी के खराब होने का सीधा संबंध खराब नींद से है. स्लीप एपीनिया (Sleep apnea) के कारण किडनी फेल्योर की समस्या हो सकती है. वास्तव में शरीर के अन्य आवश्यक अंगों को बचाने के कारण किडनी पर अतिरिक्त अचानक दबाव बढ़ सकता है जिसके कारण किडनी फेल्योर की समस्या हो सकती है.
स्किन में खुजली होना
अगर स्किन में अक्सर खुजली रहती है तो यह किडनी में प्रॉब्लम का संकेत हो सकता है. जब किडनी में टॉक्सिन मैटेरियल ज्यादा होने लगता है तो यह स्किन के नीचे दबने लगते हैं , जिसके कारण स्किन में खुजली, सूखापन और दुर्गंध आने की समस्या हो सकती है.
चेहरे पर पफी आना
किडनी जब प्रॉपर तरीके से काम नहीं करती तब इसमें सोडियम की मात्रा बढ़ने लगती है. इसके कारण शरीर का तरल पदार्थ हाथ, पैर, टखने, फेस आदि पर जमा होने लगता है. इससे फेस पफी दिखने लगता है.
मसल्स में क्रैप होना
पैर और पिंडलियों में क्रैप आना खराब किडनी के संकेत हो सकते हैं. यह सोडियम, कैल्शियम, पोटैशियम और अन्य इलेक्ट्रोलाइट्स में असंतुलन के कारण होते हैं. इन सबका संबंध किडनी की गड़बड़ी से है.

Tags: Health, Kidney, Lifestyle

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.