[ad_1]

Side effects of garlic: भारत में लहसुन (Garlic) का बड़े पैमाने पर सब्जी के साथ इस्तेमाल किया जाता है. इसके अलावा कुछ लोग कच्चे लहसुन का भी सेवन करते हैं. लहसुन में एलिसिन (allicin) नाम का रसायन पाया जाता है जिसकी वजह से लहसुन में तीखी गंध होती है. कई बीमारियों के इलाज में लहसुन का सेवन सदियों से किया जाता रहा है. कई रिसर्च में भी यह बात साबित हुई है कि लहसुन में ब्लड सर्कुलेशन (Blood circulation) से संबंधित कई बीमारियों को रोकने का गुण है. लहसुन कोलेस्ट्रॉल को कम करता है जिससे हार्ट संबंधी बीमारियों का जोखिम घट जाता है. यह ब्लड प्रेशर (blood pressure) के लेवल को भी मैंटेन रखता है.ऑर्थराइटिस (arthritis) के लिए सबसे ज्यादा लहसुन का इस्तेमाल किया जाता है. चूंकि लहसुन की तासीर गर्म (Hot) होती है इसलिए सर्दी में लोग इसका सेवन बहुत करते है.
इतने सारे फायदों के बावजूद लहसुन के कुछ साइड इफेक्ट्स हैं. ज्यादा लहसुन का सेवन हेल्थ संबंधी कई समस्याओं को बढ़ा सकता है. खासकर के प्रेग्नेंट महिलाओं को सोच-समझकर लहसुन का सेवन करना चाहिए. कई स्थितियों में लहसुन का सेवन करना बुद्धिमानी की बात नहीं है. इसलिए यह जानना जरूरी है कि लहसुन का सेवन किन-किन स्थितियों में नहीं किया जाना चाहिए.

इसे भी पढ़ेंः रिसर्च में भी साबित हुआ अश्वगंधा से मेमोरी पावर बढ़ती है, जानिए इसके और फायदे

किन स्थितियों में लहसुन का सेवन नहीं करना चाहिए

प्रेग्नेंसी और ब्रेस्ट फीडिंग के दौरान नुकसान
बेवएमडी की खबर के मुताबिक अगर आप प्रेग्नेंट हैं या बेबी को ब्रेस्ट फीड करा रही हैं तो लहसुन का सेवन न ही करें तो अच्छा है. क्योंकि लहसुन का ज्यादा सेवन प्रेग्नेंसी में नुकसान पहुंचा सकता है. हालांकि इस विषय को लेकर कोई पुख्ता सबूत नहीं है लेकिन आमतौर पर ऐसा माना जाता है कि लहसुन का ज्यादा सेवन प्रेग्नेंट और ब्रेस्टफीड करा रही महिलाओं नहीं करना चाहिए.

ब्लीडिंग का जोखिम
जिस व्यक्ति को एलर्जी या पहले से ब्लीडिंग की समस्या है उसे लहसुन का सेवन नहीं करना चाहिए. क्योंकि यह खून को पतला कर देता है.

इसे भी पढ़ेंः सर्दी के मौसम में कमजोरी महसूस हो रही है तो इन इन पांच ड्राई फ्रूट्स का सेवन करें

छाती में जलन
लहसुन का ज्यादा सेवन छाती में जलन (heartburn) की समस्या को और अधिक बढ़ा सकता है. खासकर के यदि आप कच्चे लहसुन का ज्यादा सेवन कर रहे हैं तो इससे छाती में जलन की समस्या हो सकती है. इससे एसिडिटी और डायरिया भी हो सकता है.

स्किन में प्रॉब्लम
लहसुन को जब मुंह के माध्यम से लिया जाए तो यह स्किन संबंधी समस्याएं पैदा नहीं करता लेकिन यदि आप कच्चे लहसुन को स्किन पर लगाते हैं तो स्किन बर्न की समस्या को जन्म दे सकता है.

Tags: Health, Lifestyle



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.