[ad_1]

How To Stay Fit And Healthy In Old Age : उम्र बढ़ते ही बुजुर्गों (Old Age) में काम करने की क्षमता धीरे-धीरे कम होने लगती है और एक्टिव लाइफ (Active Life) ना रहने से उनके शारीरिक बल के साथ ही उनका मानसिक बल (Mental Strength) भी धीरे-धीरे घटने लगता है. ऐसे में अकेलापन और उदासी उन्‍हें चारों तरफ से घेर लेती है और वे खुद को असहाय महसूस करने लगते हैं. ऐसे में डिप्रेशन यानी अवसाद की शिकायत भी उनमें बढने लगता है और वे चिड़चिड़े व्‍यवहार के हो जाते हैं. ऐसे में अगर आप भी बुढापे की तरफ बढ रहे हैं तो यहां कुछ उपाय (Tips) बताए जा रहे हैं जिनकी मदद से आप बढती उम्र में भी एजिंग के लक्षणों से बचते हुए हेल्‍दी और बिंदास लाइफ जी सकते हैं.

बुढ़ापे में स्वस्थ रहने के उपाय

1.डाइट पर ध्यान दें

हेल्‍दी रहने के लिए हेल्‍दी डाइट लेना जरूरी है. मसलन संतुलित भोजन ही खाएं, भोजन ऐसा हो जो आसानी से पच सके, एक बार में पेट भर कर खाना खाने की बजाय उन्हें थोड़ी-थोड़ी मात्रा में करके कुछ अंतराल पर भोजन करें और खाने के लिए टाइम टेबल फॉलो करें.

यह भी पढ़ें : डिप्रेशन और सुसाइडल थॉट्स को तेजी से कम करती है केटामाइन थेरेपी – स्टडी

2.इस तरह बनाएं डाइट प्‍लान

-सुबह 7.30 से 8.30 बजे के बीच नाश्‍ता करें जिसमें एक या दो मौसमी फल, अंकुरित अनाज, मलाई निकला हुआ दूध, दलिया या खिचड़ी हो.

-लंच 12 से 1 बजे के बीच करें. इसमें हरी सब्जियों या टमाटर का सूप, सलाद खाने के आधे घंटे पहले लें. हरी सब्जी उबली हुई या पकाई हुई हो तो बेहतर होगा. इसके अलावा चोकर वाले आटे की एक या दो रोटी के साथ दिन में एक बार दही जरूर लें.

-शाम के 6 से 7 बजे के बीच खा लें. इसमें आप पतली दाल, पकाई या उबली हुई सब्जी, एक या दो रोटी लें.

3.शराब और धूम्रपान को समझें दुश्‍मन

स्वस्थ जीवन के लिए शराब और धूम्रपान सबसे बड़ी बाधा है. इनकी लत कई तरह की बीमारियों को जन्म दे सकती है. इसकी वजह से हृदय रोग और मधुमेह हो सकता है और रक्तचाप से संबंधित समस्याएं भी हो सकती हैं.

इसे भी पढ़ें : खुद से प्यार करना भी है जरूरी, इन बातों को करेंगे फॉलो तो ‘सेल्‍फ लव’ रहेगा बरकरार

4.मेंटल हेल्‍थ के लिए टिप्स 

-अपनी जीवन कहानी कहने या लिखने का अभ्यास करें.

-बागवानी को अपना शौक बनाएं.

-क्लास लें और नया इंस्ट्रूमेंट सीखें.

-मेंटल एक्‍सरसाइज के लिए वीडियो गेम खेलें.

5.एक्टिव रहें 

अपना काम जहां तक हो सके खुद करें. वॉक पर जाएं, लोगों से मिलें. खुली जगह में बैठें और कुर्सी पर बैठकर ही प्राणायाम और योगा आदि करें. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Health, Lifestyle, Mental health

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.