[ad_1]

(डॉ. रामेश्वर दयाल)

Delhi Breakfast: नाश्ते (Breakfast) के तौर पर आपने कई बार छोले-भठूरे-कुलचे, बेड़मी-पूरी, पोहा-जलेबी का आनंद उठाया होगा. लेकिन आज हम आपको ऐसे नाश्ते से रूबरू करवा रहे हैं, जिसके बारे में पढ़कर आप हैरान भी होंगे और उत्सुक भी. असल में यह पुरानी दिल्ली का एक नाश्ता है. बेहद सात्विक, मजेदार और गुणों से भरा है. विशेष नाश्ते में सफेद मक्खन (नूनी घी) है, ब्रेड है और मसालेदार छाछ भी है. पुरानी दिल्ली (Old Delhi) के जिस इलाके में यह नाश्ता मिलता है, वहां इसकी खासी डिमांड है, अब तो पूरी दिल्ली के ‘चटोरे’ इस दुकान पर पहुंचने लगे हैं.

ब्रेड के अंदर सफेद मक्खन, साथ में छाछ से भरा गिलास
चांदनी चौक का धर्मपुरा इलाका खासा मशहूर है. यह इलाका कभी हवेलियों के लिए मशहूर था. इसी धर्मपुरा में एक तरफ दिगंबर जैन मंदिर है तो दूसरी ओर मस्जिद खजूर दिखाई देगी. बस इन्हीं दोनों धार्मिक स्थलों के पास ‘जैन पवित्र छाछ भंडार’ की दुकान है. छोटी सी दुकान है, लेकिन जानदार नाश्ते के रूप में जानी जाती है. अब नाश्ते पर भी गौर फरमाएं. दुकान वाले खुद ही दूध मंगाकर उसका सफेद मक्खन बनाते हैं. इसी सफेद मक्खन को ब्रेड पर डालकर उसे पूरी ब्रेड में लपेटा जाता है.

फिर इस मक्खन लिपटी ब्रेड के ऊपर काला नमक व भुने-पिसे जीरे का छिड़काव होता है. इसके ऊपर एक ब्रेड रख दी जाती है. यह नाश्ते का एक पार्ट हो गया. दूसरे पार्ट के रूप में साथ में आपको मसालेदार छाछ से भरा गिलास पेश किया जाता है. अब बताइए ऐसे ‘अद्भुत’ नाश्ते का स्वाद हम क्यों नहीं लेना चाहेंगे.

‘साइड इफेक्ट’ कोई नहीं, जैसा अमूमन दिल्ली के नाश्ते में नजर आता है
स्वादिष्ट के साथ है हाइजेनिक नाश्ते में आप कितना सफेद मक्खन खाना चाहेंगे, यह आप पर निर्भर है. अगर 25 ग्राम मक्खन वाली ब्रेड चाहिए तो वह 25 रुपये में मौजूद है. आपको लगता है कि ब्रेड में अगर मक्खन ज्यादा हो तो आनंद आ जाएगा तो आप 40 रुपये में 50 ग्राम मक्खन लगवाकर स्वाद लाजवाब कर सकते हैं. मसालेदार छाछ का गिलास 15 रुपये का है. हमारा दावा है कि इतनी कम कीमत में इतना स्वादिष्ट, हाइजेनिक (Hygienic) और मनभावी नाश्ता आपको दिल्ली में शायद ही कहीं मिल पाए. अगर आपको सफेद मक्खन चाहिए तो यहां पर 650 रुपये में हाजिर है. मतलब, यहां नाश्ता करिए और घर पर स्वास्थ्य से भरपूर मक्खन ले जाकर अपनों को भी आनंद की अनुभूति करवाएं.

63 साल पहले छाछ से शुरू किया था काम
पुरानी दिल्ली में यह दुकान 63 साल पुरानी है. इस दुकान को लाला मंदरलाल जैन ने शुरू किया था. असल में इलाके में दूध बेचने वाले हलवाई बहुत थे, इसलिए लालाजी ने छाछ का काम शुरू किया. कुछ साल बाद उनके बेटे सुनील कुमार जैन ने जब इस काम को संभाला तो उन्होंने ब्रेड मक्खन का काम भी जोड़ लिया. बस फिर तो इनका नाश्ता खूब मशहूर हो गया.

आज उनके बेटे रोहित जैन अपने पुश्तैनी कारोबार को चला रहे हैं. उनका कहना है कि हम सालों से डेयरी से खुद दूध लेकर आते हैँ, उसका दही जमाते हैं, दही से मक्खन निकालकर लोगों को उसका स्वाद चखवाते हैं. आजकल एक ब्रांच शाहदरा स्थित बाबूराम स्कूल के पास भी है. दुकान सुबह 8:30 बजे खुल जाती है ओर दोपहर ढाई बजे काम खत्म हो जाता है. दुकान का कोई अवकाश नहीं है.

नजदीकी मेट्रो स्टेशन: चांदनी चौक

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.