[ad_1]

Beneficial herbs for kids: धीरे-धीरे ठंड दस्तक दे रही है. यह एक ऐसा मौसम होता है, जिसमें बच्चों की सेहत का ज्यादा ख्याल रखना जरूरी होता है. इस मौसम में अकसर तापमान में गिरावट के कारण रहन-सहन की शैली में भी बदलाव आ जाता है. लिहाजा इस दौरान ज्यादा सावधानी बरतनी पड़ती है. बड़ों की अपेक्षा बच्चों की त्वचा ज्यादा नाजुक होती है, इसलिए सर्दियों के मौसम में बच्चों की देखभाल ज्यादा करनी पड़ती है. 

देश के मश्हूर आयुर्वेद डॉक्टर अबरार मुल्तानी कहते हैं कि ठंड के मौसम में बच्चों में सर्दी-जुकाम, दस्त, खांसी व निमोनिया के साथ हलके बुखार होने की संभावना रहती है. ऐसा होने पर बच्चे की नाक बहने लगती है और पसलियां तेज चलनी शुरू हो जाती हैं. इन बीमारियों से बचाने के लिए बच्चों को ठंड से बचाकर रखना चाहिए. कुछ ऐसी चीजें हैं, जो आपके बच्चों को सर्दी-खांसी औ जुकाम होने पर काम आ सकती हैं. नीचे जानिए उनके बारे में…

बच्चों के लिए फायदेमंद जड़ी-बूटियां

  • अदरक
  • शहद
  • तुलसी
  • पिपली

1. अदरक से बच्चों को मिलने वाले फायदे
ठंड के मौसम में अदरक को सर्दी-खांसी ठीक करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. इसके साइंटिफिक सबूत भी हैं कि ये कफ और गले को आराम पहुंचाता है. अदरक में कोलेस्ट्रोल नहीं होता है और इसे अपने खाने में शामिल करने से हार्ट प्रॉब्लम से बचा जा सकता है. 6 महीने से ज्यादा उम्र के बच्चे को आप सर्दी-जुकाम के लिए घर में बने काढ़े में अदरक को शामिल करके पिला सकते हैं. 

2. शहद से बच्चों को मिलने वाले फायदे
बच्चों की सेहत के लिए शहद बेहद लाभकारी है. डॉक्टर्स की मानें तो बच्चे को 1 साल का होने के बाद ही शहद खिलाना चाहिए. एक साल से छोटे बच्चों को शहद चटाने से कई तरह के इंफेक्शन जैसे क्लोस्ट्रीडियम इंफेक्शन होने का खतरा हो सकता है. बच्चों में शहद खिलाने से इम्यूनिटी मजबूत होती है. खांसी होने पर आप छोटे बच्चे को सुबह-शाम एक-एक चम्मच शहद खिला सकते हैं. शहद में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो बच्चों के शरीर में सूजन की समस्या को कम करता है और आंतरिक अंगों को भी मजबूत रखता है.

3. तुलसी से बच्चों को मिलने वाले फायदे
तुलसी का सेवन बच्चों की सेहत के लिए फायदेमंद माना गया है. तुलसी सर्दी-खांसी से लेकर कई बड़ी और गंभीर बीमारियों में भी एक कारगर औषधि है. तुलसी के बीज और पत्ते सभी स्वास्थ्य लाभों से भरे होते हैं. यह लूजमोशन में आराम दिलाता है. इसके लिए आपको सबसे पहले तुलसी के पत्तों को जीरे के साथ मिलाकर पीसना होगा फिर इसे दिन में 3-4 बार चाटते रहें. ऐसा करने से दस्त रुक जाते हैं और आपको लूजमोशन में आराम मिल सकता है. 

4. बच्चों के लिए पिप्पली के फायदे
पिपली का सेवन भी बच्चों की सेहत के लिए लाभकारी माना गया है. पिपली सांस से जुड़ी परेशानियो से आराम दिलाती है. इससे, लंग्स यानि फेफड़ों की सफाई नैचुरल तरीके से होती है. इसीलिए सर्दियों या वायरस के मौसम में सांस लेने से जुड़ी परेशानियां कम करने क लिए पिपली का सेवन कि या जा सकता है. इसके लिए अदरक, शहद और चुटकीभर पिपली का पाउडर गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से फायदा होता है. 

ये भी पढ़ें: How to relieve joint pain:सर्दियां आते ही बढ़ जाता है जोड़ों में दर्द, जानिए इससे निजात पाने के असरदार उपाय

अस्वीकरण- ‘खबर में दी गई सलाह और जानकारी केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए आप हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर करें.’



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.