[ad_1]

Mercury Transit In Libra - India TV Hindi
Image Source : INDIA TV
Mercury Transit In Libra 

आचार्य इंदु प्रकाश के अनुसार 27 सितंबर की सुबह 10 बजकर 40 मिनट पर बुध तुला राशि में वक्री हो रहे है। वक्री यानि तुला राशि में ही उल्टे गति से गोचर करने लगेगे। इससे


पहले बुध 21 सितंबर की सुबह 8 बजकर 22 मिनट पर तुला राशि में प्रवेश किए थे | बता दें कि बुध उल्टे गति से गोचर करते हुए 2 अक्टूबर की देर रात 2 बजकर 46 मिनट पर कन्या राशि में प्रवेश कर जायेंगे और 18 अक्टूबर की रात 8 बजकर 48 मिनट पर कन्या राशि में मार्गी यानि सीधी गति से गोचर करने लगेंगे तथा मार्गी गति से गोचर करते हुये 2 नवंबर की सुबह 9 बजकर 53 मिनट पर पुनः तुला राशि में प्रवेश कर जायेंगे। 

2 अक्टूबर तक वक्री बुध के विभिन्न राशि वालों पर क्या प्रभाव होंगे और उस स्थिति में शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए और अशुभ फलों से बचने के लिए आपको क्या उपाय करने चाहिए। जानिए आचार्य इंदु प्रकाश से। 

Diwali 2021: इस साल दिवाली पर बन रहा है दुर्लभ योग, जानें तिथि और शुभ मुहूर्त

मेष राशि

वक्री बुध आपके सातवें स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर के प्रभाव से जीवनसाथी के साथ आपके रिश्तों में तीखापन आ सकता है, साथ ही अपने जीवनसाथी का ख्याल भी रखने की जरूरत है। वक्री बुध के अशुभ फलों से बचने के लिए मिट्टी के बर्तन में पानी में भीगा हुआ हरा मूंग मन्दिर में दान करने चाहिए।

वृष राशि

वक्री बुध आपके छठे स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर के प्रभाव से आप अपने विचारों से दूसरों को तुंरत प्रभावित करने में सक्षम होंगे। आपको अपने दोस्तों का साथ मिलेगा और दुश्मनों से छुटकारा मिलेगा। इस दौरान आप जो भी करेंगे वह दिल खोलकर करेंगे। प्रिंटिंग प्रेस, कागज  और कलम से जुड़े लोगों को अच्छा फायदा मिलेगा। लिहाजा वक्री बुध के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए  कोई भी शुभ कार्य शुरू करने से पहले किसी कन्या का आशीर्वाद जरूर लें।

Vastu Tips: शाम या फिर रात के समय बिल्कुल भी न करें घर में रोजमर्रा के ये काम, होगी धनहानि

Gemini

Image Source : INDIA TV

Gemini

मिथुन राशि

वक्री बुध आपके पांचवें स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर के प्रभाव से आपका मन पढ़ाई-लिखाई में लगेगा। इससे आपको विद्या का लाभ मिलेगा। गुरु से भी उचित सहयोग प्राप्त होगा, साथ ही लवमेट के साथ रिश्तों में मधुरता आएगी। आपको ये सभी शुभ फल सामान्य रूप से प्राप्त होते रहेंगे। वक्री बुध के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए गाय की सेवा करें। 

कर्क राशि

वक्री बुध आपके चौथे स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर से आपको भूमि-भवन और वाहन का लाभ मिलेगा। आपको भौतिक सुखों की प्राप्ति होगी। आपको अपनी माता का पूरा सहयोग मिलेगा। 2 अक्टूबर तक आपको अपने कार्यों में धैर्य बनाए रखने की आवश्यकता है, साथ ही वक्री बुध के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए केसर का तिलक अपने मस्तक पर लगाना चाहिए। 

Leo

Image Source : INDIA TV

Leo

सिंह राशि

वक्री बुध आपके तीसरे स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर से भाई-बहनों के साथ आपके रिश्ते बेहतर होंगे। आपको अपने कामों में भाई-बहनों से भी पूरा सहयोग प्राप्त होगा।  2 अक्टूबर तक आप दूसरों को अपनी बातों से प्रभावित करने में भी सफल होंगे। वक्री बुध के अति शुभ फल प्राप्त करने के लिए 2 अक्टूबर तक सुबह उठकर फिटकरी से अपने दांत साफ करें। 

कन्या राशि

वक्री बुध आपके दूसरे स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर से आपको अपनी मेहनत का उचित फल प्राप्त होगा। आपको अचानक धन लाभ हो सकता है।  2 अक्टूबर तक आपको नई चीज़ों को जानने का मौका मिलेगा। आपके शत्रु भी आपसे दूरी बनाकर रखेंगे। वक्री बुध के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए 2 अक्टूबर तक अपने पास चांदी की कोई चीज़ रखें। 

Libra

Image Source : INDIA TV

Libra

तुला राशि

वक्री बुध आपके पहले स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर के प्रभाव से समाज में आपका मान-सम्मान या पद-प्रतिष्ठा इस बात से तय होगा कि आप 2 अक्टूबर तक किस तरह का काम करते हैं या किस तरह के कामों में अपना सहयोग देते हैं, साथ ही अपने बच्चों के कामों पर विशेष रूप से नजर बनाकर रखनी चाहिए। 2 अक्टूबर तक वक्री बुध के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए  हरे रंग की चीज़ें मन्दिर में दान करनी चाहिए। 

वृश्चिक राशि

वक्री बुध आपके बारहवें स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर के प्रभाव से दूसरों के गलत कामों में पड़ने से आपकी रातों की नींद उड जाएंगी। आपको शैय्या सुख पाने के लिए कोशिश करनी पड़ेगी , साथ ही आपको अपनी आमदनी भी संभलकर खर्च करनी चाहिए। वक्री बुध के अशुभ फलों से बचने के लिए 2 अक्टूबर तक आपको अपने गले में एक पीले रंग का धागा पहनना चाहिए।

Sagittarius

Image Source : INDIA TV

Sagittarius
 

धनु राशि

वक्री बुध आपके ग्यारहवें स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर से आपको अचानक धन लाभ का मौका मिलेगा। आपको हर तरह के सुख-साधनों की प्राप्ति होगी। आपकी कोई इच्छा है तो वह भी जल्द ही पूरी हो जाएगी। इसके अलावा 2 अक्टूबर तक आपकी संतान की पढ़ाई-लिखाई भी अच्छी रहेगी। वक्री बुध के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए 2 अक्टूबर तक अपने गले में तांबे का पैसा धारण करें। 

मकर राशि

वक्री बुध आपके दसवें स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर से आपको करियर में कुछ समस्यायों का सामना करना पड़ सकता है | आपके पिता के करियर की गति भी इस बीच कुछ थम सकती है। 2 अक्टूबर तक अपने पिता की सेहत का ध्यान रखना चाहिए।  वक्री बुध के अशुभ प्रभावों से बचने के लिए 2 अक्टूबर तक आपको मां दुर्गा की उपासना करनी चाहिए। 

Sagittarius

Image Source : INDIA TV

Sagittarius
 

कुंभ राशि 

वक्री बुध आपके नवें स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर से आपको अपने भाग्य का साथ मिलेगा। आप जितनी मेहनत करेंगे उसका पूरा-पूरा फल आपको मिलेगा। इस दौरान आपकी आर्थिक स्थिति भी ठीक बनी रहेगी। वक्री बुध के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए और अशुभ फलों से बचे रहने के लिए आपको 2 अक्टूबर तक लोहे की लाल रंग की हुई गोलियां अपने पास रखनी चाहिए। 

मीन राशि

वक्री बुध आपके आठवें स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर के प्रभाव से आपकी शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रहेंगे। आप अपने कार्य़ अच्छे से कर पाएंगे , साथ ही आपको अपनी मेहनत का अच्छा रिजल्ट मिलेगा। वक्री बुध के शुभ फलों को सुनिश्चित करने के लिए बुधवार के दिन मिट्टी के बर्तन में थोड़ा-सा शहद डालकर घर से दूर कहीं विराने में दबा दें। 

 

 



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.