[ad_1]

Benefits of Bhadrasana: आज हम आपके लिए लेकर आए हैं भद्रासन के फायदे. भद्रासन योग को अंग्रेजी में ‘ग्रेसिऑस पोज’ भी कहा जाता है. इस आसन की खास बात ये है कि यह मन को शांत करता है और इससे शरीर निरोगी और सुंदर बनता है. इसके अलावा यह फेफड़ों और पाचन तंत्र के लिए बहुत ही लाभदायक होता है. योग एक्सपर्ट्स दावा करते हैं कि भद्रासन से मेटाबॉलिज्म को स्ट्रॉन्ग बनाया जा सकता और ब्रेन को एक्टिव रखने में मदद मिलती है. 

भद्रासन क्या है (what is bhadrasana)
भद्रासन संस्कृत शब्द भद्र से निकला है, जिसका मतलब होता है सज्जनता या शालीनता. यह आसन बहुत सारे रोगों को नष्ट करने में मददगार है. भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र भी कह चुके हैं कि भद्रासन करने से शरीर सुदृढ़, स्थिर और मजबूत बनता है. नीचे हम आपके लिए भद्रासन करने की विधि और उसके फायदों के बारे में जानकारी दे रहे हैं. 

भद्रासन करने की विधि (method of doing bhadrasana)

  • सबसे पहले फर्श पर एक योगा मैट को बिछाकर उस पर दोनों घुटनों को मोड़कर बैठ जाएं.
  • आप इस योग आसन को करने के लिए सीधे वज्रासन में भी बैठ सकते हैं.
  • पैरों की उंगलियों को फर्श से संपर्क करके बैठें.
  • अब अपने दोनों हाथों को सीधा करके दोनों घुटनों पर रखें.
  • अब आप अपने दोनों घुटनों को सामने से जितना अधिक हो सके उतना फैलायें.
  • ध्यान रखें कि आपके पैर फर्श के संपर्क में ही रहें.
  • अपने कूल्हों को दोनों पैरों के बीच जमीन पर रखने के लिए पैरों को चौड़ा करें.
  • रीढ़ को सीधा रखें और नाक की नोक के केंद्र पर ध्यान केंद्रित करें.
  • फिर आप धीमी और गहरी सांस लेते हुए शरीर को आराम दें.

भद्रासन करने के फायदे (Benefits of doing Bhadrasana)

  1. भद्रासन योग थकान को कम करने में बहुत ही लाभदायक होता हैं. जो लोग दिन भर की थकान से परेशान रहते है उनके लिए इस योग को अच्छा माना जाता जाता हैं.
  2. भद्रासन एसिडिटी, कब्ज और पेट की कई समस्याओं के इलाज के लिए एक प्राकृतिक और सुरक्षित तरीका है.
  3. इस योगआसन की मुद्रा में बैठने से पैरासिम्पेथेटिक तंत्रिका तंत्र मजबूत होता है और कोर्टिसोल उत्पादन कम होता है, जिससे दिमाग में अच्छी और प्रसन्नता की भावनाएं आती हैं.
  4. इसे नियमित अभ्यास से याददाश्त और एकाग्रता भी बढ़ती है और आप बेहतर तरीके और लगन से काम कर पाते हैं.
  5. अगर आप नियमित तौर पर इस आसान को करते हैं तो मांसपेशियां मजबूत और स्वस्थ बनती हैं. 

भद्रासन के दौरान रखें ये सावधानियां (Keep these precautions during Bhadrasana)

  1. जिन लोगों के जोड़ों, पेट या घुटनों में दर्द है वे इस आसन को न करें.
  2. अगर आप गर्भवती हैं, तो डॉक्टर की सलाह पर ही इसे करें.
  3. अगर आपको कोई चोट लगी है तो इस आसन का अभ्यास न करें.
  4. हाई ब्लड प्रेशर के पेशेंट्स को भद्रासन नहीं करना चाहिए.
  5. डायरिया की तकलीफ होने पर भी इस आसन का अभ्यास न करें.

ये भी पढ़ें: White hair problem solution: झड़ते और सफेद होते हैं बाल तो करें ये काम, हेयर हो जाएंगे काले, घने और मजबूत

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नही है. यह सिर्फ आपको शिक्षित करने के लिए दी गई है.​



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.