[ad_1]

नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली में अब कोरोना (Covid-19) के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) के 54 मरीज हो गए हैं. इनमें से 17 मरीज डिस्चार्ज हो कर घर जा चुके हैं. साथ ही तीन ओमिक्रॉन के ऐसे मरीज सामने आए हैं, जिनका पहले से कोई भी ट्रैवल हिस्ट्री नहीं था. दिल्ली में ओमिक्रॉन मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होते देख दिल्ली सरकार अलर्ट हो गई है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने अब सभी कोरोना के मामलों की जीनोम सिक्वेंसिंग जांच (Genome Sequencing Test) के आदेश दे दिए हैं. इस समय दिल्ली के चार लैब में ऑमिक्रॉन वेरिएंट की जांच हो रही है, जिसमें दो लैब दिल्ली सरकार के और दो लैब भारत सरकार के हैं.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने मंगलवार को ओमिक्रॉन वेरिएंट के संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि ओमीक्रॉन वेरिएंट से घबराने की जरूरत नहीं है. केवल सावधानी बरतने की ज़रूरत है. ओमिक्रॉन वेरिएंट कोरोना का ही वेरिएंट है और इसके इलाज़ और इससे बचने का प्रोटोकॉल भी पहले की तरह ही है. सभी से अपील है कि मास्क लगाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि ओमिक्रॉन वेरिएंट की जांच के लिए दिल्ली में चार लैब हैं, जिसमें दो केंद्र की हैं और दो दिल्ली सरकार की हैं.

Omicron test in delhi, Genome Sequencing Test, Delhi Omicrone News, Third Wave of Coronavirus, Delhi Government, ILBS, AIIMS, IGI Airport, LJNP,  कोरोना की तीसरी लहर, दिल्ली सरकार, जीनोम सीक्वेंसिंग लैब,  लोकनायक अस्पताल, इंस्टिट्यूट ऑफ लिवर एंड बिलियरी साइंसेज,केंद्र सरकार, ऑमिक्रॉन लैब दिल्ली में कहां-कहां हैं, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान,  इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा,
दिल्ली सरकार के दोनों लैब की क्षमता प्रतिदिन 100 से अधिक सैंपल की जीनोम सिक्वेंसिंग करने की हैं.

दिल्ली में ओमिक्रॉन टेस्ट के लिए कितने लैब
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि दिल्ली में कुल 54 ओमिक्रॉन के मामले सामने आए हैं, जिसमें से 34 मरीज एलजेएनपी अस्पताल में भर्ती हैं और 17 मरीज स्वस्थ्य हो चुके हैं और वे अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं. ओमिक्रॉन वेरिएंट की जांच के लिए दिल्ली में कुल 4 जीनोम सिक्वेंसिंग लैब हैं, जो ओमिक्रॉन के मामलों की जांच करने में सक्षम हैं. इसमें दो लैब केंद्र की हैं और दो दिल्ली सरकार की हैं. दिल्ली सरकार के दोनों लैब की क्षमता प्रतिदिन 100 से अधिक सैंपल की जीनोम सिक्वेंसिंग करने की हैं. दिल्ली में कोरोना के सभी पॉजिटिव सैंपलों की जीनोम सिक्वेंसिंग की जा रही है.’

इन जगहों पर हैं जीनोम सीक्वेंसिंग लैब
गौरतलब है कि कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए कई महीने पहले ही दिल्ली सरकार ने दो जीनोम सीक्वेंसिंग लैब की शुरुआत की थी. इनमें से एक लैब दिल्ली के लोकनायक अस्पताल में हैं और एक इंस्टिट्यूट ऑफ लिवर एंड बिलियरी साइंसेज (ILBS) में है. वहीं, केंद्र सरकार के भी दो लैब एक अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में और एक इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर है, जो विदेशों से भारत लौटने वाले यात्रियों की जांच के लिए है. ये चारों लैब एडवांस तकनीक पर आधारित है.

ओमिक्रॉन से संक्रमित व्यक्तियों में नाक से पानी आना ,सिर दर्द , थकान और गला सूखना जैसे लक्षण दिखाई देते हैं. (Image: Shutterstock)
ओमिक्रॉन से संक्रमित व्यक्तियों में नाक से पानी आना ,सिर दर्द , थकान और गला सूखना जैसे लक्षण दिखाई देते हैं. (Image: Shutterstock)

दिल्ली सरकार ओमिक्रॉन को लेकर कितना अलर्ट
जैन ने लोगों से कोरोना से जुड़े नियमों का पालन करने का आग्रह किया. उन्होंने लोगों से सार्वजनिक जगहों पर सुरक्षा के लिए मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने का निवेदन किया. इसके अलावा उन्होंने लोगों से कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लेने की अपील भी की. साथ ही कहा कि बूस्टर डोज देने को लेकर दिल्ली सरकार लगातार केंद्र सरकार संपर्क में है.

ये भी पढ़ें: Omicron News: क्या ओमिक्रॉन से भारत के लोगों को सीरो पॉजिटिविटी रेट बचाएगी जान? जानें रिपोर्ट और एक्सपर्ट की राय

गौरतलब है कि ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को लेकर अब दिल्ली सरकार ने अपनी तैयारियों को और रफ्तार देने की तैयारी कर ली है. सरकार आने वाले दिनों में हेल्‍थ सिस्टम और इन्‍फ्रांस्‍ट्रक्‍चर से जुड़े कई और बड़े अहम फैसले लेने जा रही है. कोविड मैनेजमेंट से जुड़ी उन सभी गतिविधियों को वार लेवल पर शुरू करने की तैयारी है, जिसको कोरोना का दूसरी लहर और तीसरी लहर के दौरान किया गया था.

Tags: COVID 19 Test, Delhi Government, LNJP Hospital, Omicron, Omicron variant



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.