[ad_1]

नई दिल्‍ली. आज वर्ल्‍ड डाइबिटीज डे (World Diabetes Day) है, लिहाजा ‘सेहत की बात’ (Sehat Ki Baat) में आज बात करेंगे डायबिटीज से जुड़े कुछ सवालों की. सबसे पहले बात करते हैं उस सवाल की, जिसका जिक्र डायबिटीज का नाम लेते ही जहन मे सबसे पहले आता है. लो ब्‍लड शुगर और हाई ब्‍लड शुगर. डायबिटीज में इन दोनों का मतलब क्‍या है? इनके लक्षण क्‍या है? साथ ही, इनको नजरअंदाज करने पर क्‍या खामियाजा भुगतना पड़ सकता है?

इन्‍हीं तमाम सवालों का जवाब जानने के लिए हमने मैक्स इंस्टीट्यूट ऑफ एंडोक्रिनोलॉजी एंड डायबिटीज के चेयरमैन डॉ अंबरीश मिथल से बातचीत की. आइए, डॉ अंबरीश मिथल की जुबानी जानते हैं डायबिटीज से जुड़े तमाम सवालों के उत्‍तर…

क्‍या है लो और हाई ब्‍लड शुगर?
डॉ. अंबरीश मिथल के अनुसार, हाई ब्‍लड शुगर को ही डायबिटीज की बीमारी कहाजाताहै.आम तौर जिसको हम लो शुगर बोलते हैं, वह डायबिटीज के पेशेंट को ही होती है. दरअसल, जब डाय बिटीज के मरीज कुछ इस तरह की स्‍ट्रांग दवाइयां खा रहे हों, जिनसे शुगर का लेबरतेजीसेकम हो जाए. वहीं, हाई ब्‍लड शुगर के मरीज अपनी दिनचर्या, भोजन और टाइम टेबल का पालन नहीं करते हैं, ऐसी स्थिति में भी डायबिटीज के मरीजों का ब्‍लड शुगर लो होने की आशंका बनीरहती है.

डॉ. मिथल के अनुसार, डायबिटीज या डायबिटीज की दवाई के बिना ब्‍लड शुगर लेबलकमहोना अनकॉनम और रेयर है. हाई ब्‍लड शुगर की अपेक्षा लो शुगर लेबल बहुत खतरनाक है. लिहाजा, जिनका ब्‍लड शुगर लेबल हाई रहता है, उन्‍हें अपनी दिनचर्या, भोजन और दवाई का खास ख्‍याल रखना चाहिए.

क्‍या हैं हाई ब्‍लड शुगर के लक्षण
डॉ. अंबरीश मिथल के अनुसार, प्राथमिक तौर पर हाई ब्‍लड शुगर के लक्षण अक्‍सर होते ही नहीं हैं. अगर किसी की शुगर 200, 250 या 300 चल रही है, तो कई बार उसको पता ही नहीं चलता है कि उसको हाई ब्‍लड शुगर है. हाई ब्‍लड शुगर के लक्षण 400 – 500 वैल्यू पहुंचने के बादनजर आते हैं. उस समय जो सिंटम आते हैं, उसमें प्‍यास ज्‍यादा लगना, यूरिन ज्‍यादा पासहोना,एकदम वजन कम होना और डिहाइड्रेशन जैसे लक्षण शामिल है.

शुगर का लेबल बढ़ने पर कभी कभी उसमें चक्‍कर आना, सिर अजीब सा लगना और कमजोरी बहुत लगना जैसे लक्षण आना शुरू हो जाते हैं. शुगर बहुत ज्‍यादा ही अनकंट्रोल रहे तो सांस फूलने जैसे लक्षण भी हो सकते हैं.

क्‍या हैं लो ब्‍लड शुगर के लक्षण
डॉ. अंबरीश मिथल के अनुसार, यह बड़ा अजीब लगता है सुनकर कि बीमारी तो हाई ब्‍लड शुगर की है, लेकिन लो ब्‍लड शुगर के सिंटम बिल्‍कुल क्लियर दिखते हैं. उन्‍होंने बताया कि अगरहमने इंसुनिल लगा लिया या टैब‍लेट खा ली और उस दिन खाना नहीं खाया,तोब्‍लडशुगरलोहोसकता है. लो ब्‍लड शुगर का मतलब है, जब शुगर की वैल्‍यू 70 से कम हो, उसे लो ब्‍लड शुगर कहते हैं. लो ब्‍लड शुगर में ऐसा लगता है कि एकदम से हम सिंक कर रहे है.

इसके अलावा, दिल बैठने जैसे लगता है, घबराहट सी महसूस होती है, दिल की धड़कन तेज हो जाती है. हाथ कांपने लगते हैं, और अचानक से भूख बहुत लगने लगती है. लगता है जल्‍दी से कुछ खाओ, कहीं हम बेहोश न हो जाएं.

ब्‍लड शुगर नजरअंदाज करना है खतरनाक
डॉ. अंबरीश मिथल के अनुसार, अगर ब्‍लड शुगर हो रहा है और आपने उसके लक्षणों पर ध्‍यान नहीं दिया तो आप बेहोश भी हो सकते हैं. बेहोश होने से पहले लगेगा कि चक्‍कर आ रहा है, एकदम आंख के आगे अंधेरा आ रहा है. और मैं खडा भी नहीं हो पा रहा हूं या बैठ भी नहीं पा रहा हूं, ये लो ब्‍लड शुगर के साइन होते हैं. उन्‍होंने बताया कि कभी-कभी लो और हाई ब्‍लड प्रेशर के लक्षण एक समान भी दिखते हैं.

यह भी पढ़ें:
Warning Signs of Diabetes: ये 11 लक्षण हो सकते हैं डायबिटीज की दस्‍तक के संकेत
Health Tips: क्या डायबिटीज के मरीजों को खाना चाहिए पोहा? जानें डॉ. अलका की राय

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.